बेसहारा पौधों को सहारा देने की आगरा में नई पहल

आगरा : अच्छी बारिश के बाद चारों ओर हरियाली दिख रही है। ऐसे में बेतरतीब उग आए अवांछित पौधों को सही जगह लगाने का अभियान चलाया जा रहा है।

आसानी से उग आए इन पौधों में पाखड़, बरगद, पीपल और गूलर के पौधे बड़ी संख्या में दिख रहे हैं। ये पौधे बचें और इनसे पर्यावरण की बेहतरी में अपना योगदान दिए जाने की उम्मीद के मद्देनजर अधिवक्ता व पर्यावरणविद केसी जैन ने यह पहल शुरू की है।

इस पहल के तहत ऐसे पौधों को निकालकर थैलियों में रखकर उन्हें बड़ा करने का अभियान चलाया जा रहा है ताकि अगली बारिश में उन्हें पार्कों और सड़कों के किनारे मनचाही जगह मिल सके।

अधिवक्ता जैन ने बताया कि नाली और नालों के किनारे से पौधों को निकालने का विचार सबके मन को नहीं भाता है। लेकिन, उनकी टीम ने यह पहल शुरू की है। अब तक वे 400 से अधिक पौधों का संरक्षण कर चुके हैं। उनका कहना है कि एक ओर जहां इन बेसहारा पौधों के ऊपर तो उपकार होगा ही, वहीं दूसरी ओर लाखों की संख्या में अच्छे पौधे भी हर साल मिल सकते हैं। हमें नर्सरीयों से पौधे लाने की जरूरत नहीं होगी।

रामवीर यादव, आशीष गुप्ता, उमाशंकर कुशवाहा, संजीव श्रीवास्तव और राजेश फौजदार आदि इस अभियान में अन्य सहयोगी हैं।


Related Items

  1. ताजनगरी की भूली-बिसरी इमारतों को याद दिलाएगा ‘दीदार-ए-आगरा’

  1. आगरा की जरूरतों को राजनीतिक एजेंडा में जगह देने की मांग

  1. लॉयन्स क्लब ऑफ आगरा ने किया वृक्षारोपण

Popular Posts