जूता फैक्ट्री में फंसी 'सिवेट कैट' को सफलतापूर्वक बचाया!

आगरा : सिकंदरा स्थित एक जूता फैक्ट्री कॉन्सेप्ट कन्सीवर्स एंड एक्ज़ीक्यूटर्स के सोल कटिंग रूम में एक एशियन पाम सिवेट मिला। बढ़ते तापमान और भीषण गर्मी के कारण सिवेट कैट थकी हुई और डीहाईड्रेटेड थी l आवश्यक चिकित्सकीय सहायता प्रदान करने के बाद उसे वापस जंगल में छोड़ दिया गया।

फैक्टरी में काम करने वाले कर्मचारी एक असामान्य जानवर को देखकर आश्चर्यचकित रह गए। जानवर के नज़दीक जाने पर उन्होंने पाया कि वह जानवर एक सिवेट कैट है।

जानवर की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए फैक्टरी के प्रोडक्शन मैनेजर जितेंद्र चौहान ने वन विभाग और वाइल्डलाइफ एसओएस को उनके हेल्पलाइन पर इसकी जानकारी दी। इसके बाद वन्य जीव संरक्षण संस्था से तीन सदस्यीय रेस्क्यू टीम को तुरंत भेजा गया। एक घंटे की खोजबीन के बाद, उन्हें रैक के नीचे सिवेट कैट दिखाई दिया। सावधानी बरतते हुए उन्होंने रैक को हटाया और सिवेट को एक सुरक्षित परिवहन पिंजरे में स्थानांतरित कर दिया।

वाइल्डलाइफ एसओएस के डायरेक्टर कंज़रवेशन प्रोजेक्ट्स बैजूराज एमवी ने कहा कि सिवेट कैट अक्सर सिकंदरा और उसके आसपास के क्षेत्र में देखी जाती रही हैं। तापमान में वृद्धि के कारण, जानवर अक्सर ठंडे स्थानों जैसे ढकी हुई इमारतों में शरण ले लेते हैं। सिवेट कैट गंभीर रूप से डीहाईड्रेटेड और थकी हुई थी। ठीक होने के बाद उसे वापस जंगल में छोड़ दिया गया।

एशियन पाम सिवेट, जिसे टोडी कैट भी कहा जाता है, एक लंबी नेवले जैसा दिखाई देने वाला जीव है, जो विभिन्न प्रकार के आवास और परिस्थिति में जीवित रहता है। यह दक्षिण और दक्षिण पूर्व एशिया का मूल निवासी है और यह प्रजाति वन्यजीव संरक्षण अधिनियम, 1972 की अनुसूची II के तहत संरक्षित है। सिवेट कैट चूहे जैसी कृंतक आबादी को नियंत्रित करके ईकोसिस्टम में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैंl यह प्रजाति बीजों के फैलाव में प्रमुख योगदान निभाती हैं क्योंकि वे अक्सर फल, जामुन और कॉफी बीन्स खाते हैं और उनके बीज गिरा देते हैं।


Popular Posts