शिक्षा के महत्व पर आधारित है फिल्म 'शादी मुबारक'

फिल्म निर्माता रौशन सिंह और निर्देशक आनंद सिंह आज के दौर में शिक्षा के महत्व को प्रदर्शित करने के लिए ‘शादी मुबारक’ जैसी एक संपूर्ण पारिवारिक फिल्म लेकर आए हैं। अरविंद अकेला कल्लू और आम्रपाली दुबे की फिल्म में शिक्षा के महत्व को एक अलग ही अंदाज में दिखाया गया है।

फिल्म में कल्लू का किरदार एक ऐसे बेपरवाह लड़के का है, जो पढ़ाई-लिखाई में बिल्कुल भी अच्छा नहीं है। इससे उसके पिता बहुत परेशान रहते हैं। वह अपने बेटे की शादी तो कराना चाहते हैं लेकिन लड़की वाले उनके अनपढ़ बेटे को हर बार रिजेक्ट कर देते हैं। दूसरी ओर, आम्रपाली दुबे एक मेधावी छात्रा की भूमिका में नजर आएंगी, जो एक टॉपर हैं। लेकिन फिर कुछ ऐसा होता है कि आम्रपाली दुबे की शादी 10वीं फेल कल्लू से हो जाती है। आम्रपाली को इस बात का पता शादी के बाद विदाई के समय लगता है। इससे वह खुद को ठगा हुआ महसूस करती हैं और फिर जो होता है वह देखने लायक है। इसके लिए आपको फिल्म का इंतजार करना होगा।

फिल्म के संवाद और गाने बेहतरीन हैं। फिल्म की सह निर्मात्री शर्मिला आर सिंह हैं। फिल्म में विनोद मिश्रा, समर्थ चतुर्वेदी, सृष्टि पाठक, विद्या सिंह, सोनू पांडे, जय सिंह, बबलू खान, राजेश तोमर, विजयालक्ष्मी, दिवाकर श्रीवास्तव, स्वीटी सिंह, रितु चौहान, सोना पांडे, सौम्या पांडे और मौसम भी अन्य भूमिकाओं में हैं।

फिल्म की कहानी श्याम देहाती ने लिखी है। फिल्म में शानदार संगीत ओम झा का है। इस फिल्म के गानों के गीतकार प्यारे लाल यादव, अरविंद तिवारी, श्याम देहाती, आजाद सिंह, यादव राज, आशुतोष तिवारी और शेखर मधुर हैं। फिल्म के पीआरओ रंजन सिन्हा हैं। स्क्रीनप्ले व डायलॉग अरविंद तिवारी के हैं जबकि सिद्धार्थ सिंह इस फिल्म के डीओपी हैं।

Related Items

  1. शादी के बाद अरविंद अकेला कल्लू पर चढ़ा होली का खुमार!

  1. दर्शकों के साथ सभी निर्माता-निर्देशकों की पहली पसंद हैं आम्रपाली दुबे

  1. दादा-पोते के मासूम प्रेम की कहानी है फिल्म 'दादू-आई लव यू'